saahityshyamसाहित्य श्याम

VideoBar

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

यह ब्लॉग खोजें

Gadget

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

शनिवार, 19 जून 2010

पितृ दिवस पर डा श्याम गुप्त के दो दोहे...

                 दोहे... 

शत आचार्य समान है, श्याम' पिता का मान |
नित प्रति वंदन कीजिये,  मिले धर्म संज्ञान ||

विद्या दे और जन्म दे , औ संस्कार कराय |
अन्न देय, निर्भर करे, पांच पिता कहालायं ||

कोई टिप्पणी नहीं: