saahityshyamसाहित्य श्याम

VideoBar

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

यह ब्लॉग खोजें

Gadget

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

शनिवार, 22 अगस्त 2009

शूर्पणखा--अगीत विधा महाकाव्य ---






मूल उद्देश्य --कोई कैसे व क्यों बुरा बन जाता है ,नारी के पतन में -पुरूष,समाज,व स्वयं नारी की क्या-क्या भूमिकाएँ होतीं हैं तथा कैसे रोकने का प्रयत्न किया जासकता है।
रचयिता-- डा .श्याम गुप्त

कोई टिप्पणी नहीं: