saahityshyamसाहित्य श्याम

VideoBar

यह सामग्री अभी तक एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर उपलब्ध नहीं है.

यह ब्लॉग खोजें

शनिवार, 22 अगस्त 2009

शूर्पणखा--अगीत विधा महाकाव्य ---






मूल उद्देश्य --कोई कैसे व क्यों बुरा बन जाता है ,नारी के पतन में -पुरूष,समाज,व स्वयं नारी की क्या-क्या भूमिकाएँ होतीं हैं तथा कैसे रोकने का प्रयत्न किया जासकता है।
रचयिता-- डा .श्याम गुप्त

कोई टिप्पणी नहीं: